Home चंद्रपूर  *वरोरा रेलवे स्टेशन पर विद्युतग्राही तार टुटने से ट्रेन के पहिए थमे*

*वरोरा रेलवे स्टेशन पर विद्युतग्राही तार टुटने से ट्रेन के पहिए थमे*

45
*अनेक गाडिया प्रभावित, यात्रियों को भारी परेशानी*
*राजेंद्र मर्दाने*
*वरोरा* : नागपुर – बल्लारशाह ग्रँड ट्रंक मार्ग पर आनेवाले वरोरा रेलवे स्टेशन डाउन मार्ग पर मंगलवार दोपहर लगभग ३.०० बजे के दौरान १२७९२ सिकंदराबाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस के गुजरने के बाद पोल क्रमांक ८३०- २८ के पास इंजिन का विद्युतग्राही (पेंटाग्राफ) बिजली की तार में उलझकर टुट गया व तार से लटक गया. फलस्वरूप इमरजेंसी में सवारियोंसे भरी ट्रेन जहां के तहां खडी हो गयी. इस बीच कईयों घंटे ट्रॅक बाधित रहा. जिससे अनेक गाडीया प्रभावित हुई. घंटोतक यातायात बाधित रहने से सिकंदराबाद, नवजीवन, तमिलनाडु, दुरान्तो एक्सप्रेस आदि के यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पडा. रेल विभाग द्वारा वहां पर लाइन को ठिक कराया जा रहा है.
बता दे कि, ट्रेन इंजिन के उपर जो यंत्र लगा होता है, जो ट्रेन के उपर लगे तारोंसे रगडकर चलता है उसे पेंटाग्राफ ( विद्युतग्राही ) कहते हैं. पेंटाग्राफ लोकोमोटिव पर रखा गया एक ओवर हेड उपकरण है. जिसका कार्य उपरी पारेषण लाइन से संपर्क के द्वारा बिजली ग्रहण करना है. इस पेंटाग्राफ के जरिए ही बिजली इंजिन को मिलती है और वह ट्रेन को लेकर दौडता है.
अधिक जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर को लगभग २.३० से ३.०० बजे के दौरान सिकंदराबाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस नागपुर से निकलकर सेवाग्राम होते हुये वरोरा रेलवे स्टेशन के डाउन मार्ग से चंद्रपुर के लिये गुजरती है, जैसे ही इस ट्रेन का इंजिन प्लॅटफॉर्म क्रॉस कर आगे बढता है.उसीदौरान पोल क्रमांक ८३०/२४ से पोल क्रमांक ८३०/२८ के पास इस ट्रेन के इंजिन की छत पर स्थापित पेंटाग्राफ (विद्युतग्राही ) बिजली के तार में उलझकर तार से ही लटक जाता है. विद्युत केबल से बिजली खींचने वाला पेंटाग्राफ अचानक टुटने से ट्रेन का बिजली सप्लाय बंद हो जाता है और ट्रेन पोल नं. ८३२ के पास जाकर रुक जाती है. ट्रेन के अचानक रुकने का कारण जानने हेतु स्टाफ कर्मचारी ट्रेन से नीचे उतरते है. इंजिन का पेंटाग्राफ तार से लटका देख इस जानकारी से स्टेशन प्रबंधक को अवगत कराया जाता है. गाडी कि गति से डाउन मार्ग के लगभग १ से २ कि.मी. तक के पारेषण लाइन पर इसका असर होने की संभावना को देखते हुये आगे माजरी जंक्शन तक डाउन मार्ग से ट्रेन का जाना असंभव लगने पर नागपूर – वर्धा से आनेवाली ट्रेन को अप मार्ग से माजरी जंक्शन तक रवाना करने का निर्णय लिया गया.
वरोरा रेलवे स्टेशन परिसर में सिकंदराबाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस का पेंटाग्राफ टुटने से तमिलनाडू एक्सप्रेस, दुरन्तो को काफी देर तक वरोरा स्टेशन पर रोका गया. वरोरा -से माजरी स्टेशन तक एक ही रेलपथ का उपयोग किये जाने अनेक ट्रेन अपने निर्धारित समय से देरी पर चल रही थी. बता दे कि, तामिलनाडू एक्सप्रेस व दुरान्तो इस ट्रेन का स्टॉपेज वरोरा में नही है, फिर भी काफी देर तक वरोरा स्टेशन पर रूकी रही. वही नवजीवन एक्सप्रेस भी काफी देर तक वरोरा स्टेशन पर रूकी रही. ट्रॅक बाधित होने से डाऊन लाइन पर गहरा असर पडा.
इस घटना से घबराये स्थानिय उप स्टेशन प्रबंधक प्रेस क़ो किसी भी प्रकार की जानकारी देने से बचते दिखाई दिये.
वरोरा रेलवे स्टेशनपर हुई घटना की जानकारी मिलने पर वर्धा रेलवे की इलेक्ट्रिशन टीम टावर वैन के साथ मौकै पर पहुंची. वहां पर लाइन को ठिक कराया जा रहा है. पेंटाग्राफ टुटने को लेकर दोषियों के खिलाफ कारवाई के संबध में रेल विभाग की भूमिका क्या होगी? इसपर सबकी निगाहे लगी है.
Previous articleआकाशी बिजली गिरने से निजी कंपनी के कामगार की हुई मृत्यु।
Next articleछत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में बड़ा नक्सली हमला।।