Home बड़ी खबरें महाराष्ट्र में अभी भी जानलेवा है कोरोना।।

महाराष्ट्र में अभी भी जानलेवा है कोरोना।।

134
कोरोना का खतरा अभी टला नही है।।
90 हजार से ज्यादा लोगों की अब तक हुई मौत।।
पिछले 2 महीने में 36 हजार से ज्यादा लोगों की जान गईं; हर 100 संक्रमित में से 2 तोड़ रहे हैं दम ।।
मुंबई।।
महाराष्ट्र में कोरोना के केस में फिर से कमी देखने को मिली है। पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में 24 हजार 136 नए मरीज मिले हैं। इसी दौरान 36 हजार 176 लोग कोरोना से ठीक होकर घर गए। राज्य में रिकवरी रेट भले ही 92.76 प्रतिशत हो गया है, लेकिन अभी भी मौतें के आंकड़े यहां डराने वाले हैं। पिछले 2 महीने के दौरान राज्य में 36 हजार 554 लोगों की मौत हुई है। 25 मार्च तक राज्य में मृतकों की कुल संख्या 53 हजार 795 थी। यह अब बढ़कर 90 हजार 349 तक पहुंच चुकी है। सोमवार को छोड़ दें तो 19 अप्रैल के बाद से राज्य में लगातार 500 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में 601 लोगों ने इस महामारी से दम तोड़ा है। सोमवार को थोड़ी सी राहत जरुर मिली थी और यह आंकड़ा 361 तक पहुंचा था। राज्य में 56 लाख 26 हजार 155 लोग अब तक कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। इनमें से 3 लाख 14 हजार 368 लोग एक्टिव मरीज हैं।
राज्य में हर 100 संक्रमित में से 2 की हो रही मौत
बीते 10 दिनों की बात करें तो राज्य में 9 हजार 837 लोगों की मौत इस बीमारी से हुई है। राज्य में मृत्यु दर बढ़कर 1.6 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है। हर 100 संक्रमित मरीज में से 2 की मौत इस वायरस से हो रही है। मौतों के बढ़ते आंकड़े यह दर्शाते हैं कि राज्य में गंभीर संक्रमितों की संख्या अभी भी ज्यादा है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी मंगलवार को इस बात को माना और जिन जगहों पर संक्रमित ज्यादा आ रहे हैं वैसे 18 जिलों में होम आइसोलेशन पर रोक लगा दी है। राज्य के रेड जोन वाले 18 जिलों में होम आइसोलेशन बंद
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए हमने राज्य के उन 18 जिलों के मरीजों के लिए होम आइसोलेशन रोकने का फैसला किया है जहां पॉजिटिविटी रेट ज्यादा है। इन जिलों के मरीजों को क्वारैंटाइन सेंटर जाना होगा, होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं होगी। ​​​​​​टोपे ने यह भी बताया कि राज्य में 93% संक्रमित मरीज ठीक होकर घर भी जा चुके हैं। टोपे के मुताबिक, दूसरी लहर के दौरान होम आइसोलेशन में रहने वालों की वजह से भी संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गई थी।
Previous article*वरोरा – वणी चौपदरीकरण मार्गासाठी मुरुमाचे बेकायदा उत्खनन*
Next article*राज्य को 4 फेज में अनलॉक करने की तैयारी*